Home » जरा हटके » अलीगढ़ का जवान हुआ सांबा में शहीद
587

अलीगढ़ का जवान हुआ सांबा में शहीद

एंकरः-अलीगढ़। सीमा सुरक्षा बल में तैनात क्षेत्र के गांव मुहरैनी का बेटा देवेंद्र सिंह पाकिस्तान की सेना से लोहा लेते शहीद हो गया। बेटे की शहादत पर पिता को गर्व है, उनका कहना है कि देश की सेवा के लिए दूसरे बेटे को भी सेना भेजने में कोई गुरेज नहीं करेंगे। 1ग्राम मुहरैनी निवासी सोवरन सिंह के बेटे देवेंद्र सिंह (29) जम्मू कश्मीर के सांबा सेक्टर में तैनात थे। वह पाकिस्तान की सेना के साथ मुठभेड़ में शहीद हो गए। सोमवार को यह खबर मुहरैनी पहुंची तो माहौल गमगीन हो गया। मां-बाप व भाइयों के साथ गांव के लोग जहां देवेंद्र के शहीद होने पर गर्व महसूल कर रहे हैं, वहीं गमगीन भी हैं। देवेंद्र के घर पर गांव के लोगों की भीड़ जमा हो गई।

देवेंद्र के पिता गांव में ही पोस्ट आफिस में सेवारत हैं। इनके पांच बेटे हैं। सबसे बड़े रवेंद्र पिता के साथ रहकर खेती का काम देखते हैं। दूसरे नंबर के देवेंद्र 2006 में बीएसएफ में भर्ती हो गए। तीसरे नंबर के धर्मेंद्र ने पोस्ट ग्रेजुएट तक पढ़ाई कर सेना में भर्ती होने की तैयारी कर रहे हैं। चौथे नंबर के सतेंद्र उर्फ बॉबी ने इंटर कर ली है। वह बड़े भाई व पिता के साथ खेती का काम देखता है। सबसे छोटा बेटा इंटरमीडिएट करने के बाद खैर से आइटीआइ कर रहा है। दो बेटी वीनेश व कुंती की शादी हो चुकी है। देवेंद्र की 2006 में गांव तोछीगढ़ में रीता के साथ शादी हुई थी। उन पर दो बेटे अभिषेक (7) व अनंत (3) हैं। अभिषेक अलीगढ़ के निजी स्कूल में पढ़ रहा है।
शहीद देवेंद्र अपने गांव एक माह पहले आया था। तीन दिसंबर को वह अपनी पत्नी रीता व छोटे बेटे अनंत के साथ नौकरी पर चला गया। जाते समय वह अपने सभी परिजनों से मिले थे। गमजदा पिता ने बताया कि जाते समय देवेंद्र उनसे आखिरी राम-राम की थी। 1उन्होंने उनसे कहा था, ‘जम्मू कश्मीर में सीमा पर दुश्मन गोलीबारी करते रहते हैं, तू संभलकर रहना, किसी कार्य करने में जल्दबाजी मत करना। मुङो नहीं पता था कि वह मुझसे आखिरी बार राम राम कर रहा हैं। सोमवार को बेटा धर्मेंद्र पर सेना के अधिकारी का फोन आया तो उसके शहीद होने की जानकारी हुई।’
देवेंद्र की शहादत पर पिता सोवरन सिंह को गर्व है। उनका कहना है कि वह अपने दूसरे बेटों को भी सेना में भेजना चाहेंगे। इगलास के गांव मुहरैनी में विलाप करती शहीद की मां व बहन। शहीद बेटे की तस्वीर के साथ गमगीन पिता सोवरन सिंह। जागरणदेवेंद्र की पत्नी रीता। देवेंद्र सिंह के शहीद होने की खबर मिलते ही गांव के तमाम लोग उनके घर पहुंच गए। गमगीन परिजनों को ढांढस बंधाया। ग्रामीणों का कहना था कि देवेंद्र की मौत से उन्हें दुख है, वह बहुत ही मिलनसार थे। वह देश की सेवा करते हुए शहीद हो गए उन्होंने गांव का नाम ऊंचा किया है। वे चाहते हैं कि देश की सरकार पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दे, जिससे बार-बार पाकिस्तान देश से उलझने की हिमाकत न कर सके।
देवेंद्र का बड़ा बेटा अभिषेक गांव में ही पढ़ रहा है। जब घर में सभी परिजन रो रहे थे, उस समय अभिषेक सो रहा था। उसे नहीं पता था कि उसके सिर पर अब पिता का साया नहीं रहा। लोगों ने बताया कि देवेंद्र की पत्नी रीता छोटे बेटे अनंत के साथ जम्मू में है। वहां उसे कोई सांत्वना देने वाला भी नहीं है।
बाईट:- राज किशोर शास्त्री (ग्रामीण)
बाईट:- बालकिशन शास्त्री (ग्रामीण)
बाईट:- सोबरन सिहं (पिता)
बाईट:- सुनील (भाई)
YouTube Preview Image

19,963 total views, 4 views today

अपनी राय दें

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

593

एस.वी काॅलेज में हुआ साईबर क्राईम का लेकर एक कार्यक्रम

अलीगढ़ : समाज में निरंतर बढ़ रहे साइबर अपराधों की मूल वजह जागरूकता व जानकारी ...

592

इगलास में कार ने बाईक में मारी टक्कर एक की मौत

एंकरः-अलीगढ़। इगलास के कोतवाली क्षेत्र गांव सहारा कला निवासी रामबाबू पुत्र हरी सिंह व अयज ...

591

खैर में पूर्व प्रधान की गोली मारकर हत्या

एंकरः-अलीगढ़। खैर तहसील दफ्तर गेट के सामने सुबह महगौरा के पूर्व प्रधान की बाइक सवार ...