Home » बिजनेस » आर्थोपेडिक – ‘कृत्रिम अंगों’ की नुमाइश
23_02_2013-22loc214-c-2

आर्थोपेडिक – ‘कृत्रिम अंगों’ की नुमाइश

अलीगढ़ : उत्तर प्रदेश आर्थोपेडिक एसोसिएशन की ओर से शुक्रवार को रायल रेजीडेंसी में शुरू हुई 37वें वार्षिक कान्फ्रेंस में बहुत कुछ नया है। यहां लगाए गए स्टॉल में ऐसे उपकरण भी दिखाई दे रहे हैं, जिनके बारे में अभी तक बस सुना ही था। ये स्टॉल उन युवाओं का ज्ञानव‌र्द्धन कर रहे हैं जो डॉक्टर बनना चाहते हैं। मीडिया प्रभारी डॉ. एसके वाष्र्णेय ने इन अंगों के बारे में विस्तार से जानकार दी। बताया कि बाजार में दो प्रकार के घुटने हैं। इनमें स्टेनलेस स्टील और दूसरा टाइटेनियम का हैं। स्टील के घुटने 80 हजार तक की कीमत के हैं, इनका वजन भी अधिक होता है। जबकि टाइटेनियम की कीमत 1.35 लाख से अधिक है। स्टील के घुटनों की तुलना में इनका वजन एक-तिहाई होता है। कूल्हा, जांघ व हाथ के कृत्रिम अंग भी इसी प्रकार के हैं। अब किसी भी हड्डी की जगह कृत्रिम अंग लगाना दूर की कौड़ी नहीं है।

Orthopedic Association on behalf of Uttar Pradesh on Friday began in the 37th Annual Conference of the Royal Residency is something very new. The stalls were installed such equipment are visible, which had only just heard about yet. These stalls are knowledge, those youngsters who want to be a doctor. Media Incharge Dr SK Washarney be knowledgeable about the details of these organs. There are two types of markets in the knee. These are stainless steel and the titanium. If the price of steel up to 80 thousand knees, their weight is higher. While the price of titanium is more than 1.35 million. Weight in comparison with steel knees – is third. Hip, thigh and arm prostheses are also similar. Now replaced by a prosthesis to bone is not far-fetched.

1,551 total views, 2 views today

अपनी राय दें

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

ak

शराब के ठेके 10 प्रतिशत बढाने के बाद पुराने ठेकेदारो पर

प्रदेश सरकार ने अगले वितितय वर्ष के लिए शराब की दुकानो के लार्इसैन्स 10 प्रतिशत ...

21_02_2013-20loc53-c-2

दुकानों के आगे सिल्ट विरोध में नारेबाजी

रेलवे रोड पर कबरकुत्ता के आसपास दुकानदार बुधवार को भड़क गए और नगर निगम के ...

20_02_2013-19loc224-c-2

खाद की कालाबाजारी से किसानों में उबाल

खाद की कालाबाजारी और अन्य समस्याओं को लेकर किसानों में उबाल है, किसानों ने इगलास ...