Home » जरा हटके » एस.वी काॅलेज में हुआ साईबर क्राईम का लेकर एक कार्यक्रम
593

एस.वी काॅलेज में हुआ साईबर क्राईम का लेकर एक कार्यक्रम

अलीगढ़ : समाज में निरंतर बढ़ रहे साइबर अपराधों की मूल वजह जागरूकता व जानकारी का अभाव हैं। अगर इन दो कमियों को साइबर उपभोक्ताओं के साथ खास तौर पर पुलिस वाले,वित्तीय संस्थाओं से जुड़े अफसर व छात्राऐं दूर कर लें तो एक हद तक समस्या का निदान हो सकता हैं। इस स्थिति का खुलासा पुलिस लाइन के सभागार में आयोजित सेमिनार में हुआ। इस स्थिति से निपटने के लिए लखनऊ से आये विशेषज्ञों ने भी टिप्स दिए,जबकि डीआइजी मोहित गुप्ता ने मंडल में साइबर अपराध नियंत्रण के लिए ठोस कदम उठाने का आहवान किया।
सेमिनार के दौरान साइबर क्राइम की तीन कमजोर कड़ियों का खुलासा हुआ,जिसमें पहली कड़ी रही पुलिस की अनभिज्ञता। इन अपराधों की विवेचना में जुटे कर्मियों को ही साइबर अपराध की बारीकी नहीं पता,इसकी मुख्य वजह हैं साइबर क्राइम को लेकर शासन स्तर से किसी मजबूत विंग का न बनाया जाना। आंकड़े गवाह है कि अलीगढ़ में साइबर क्राइम के करीब 54 अभियोग की विवेचना इन्हीं जानकारियों की वजह से लटकी पड़ी हैं। इनमें अधिकांश मामले एटीएम का नंबर हासिल कर इंटरनेट बैंकिंग के जरिए की गयी ठगी के हैं।
डीआइजी मोहित अग्रवाल ने शीघ्र ही सेमिनार आयोजित कर पुलिस में जानकारी की कमी को दूर कराने का फैसला लिया। साइबर क्राइम की दूसरी कमजोर कड़ी सामाजिक जागरूकता का अभाव है, जिसकी वजह से खास तौर पर छात्राऐं और महिलाएं इंटरनेट, फेस बुक आदि का इस प्रकार प्रयोग करती हैं, जिससे वे अपराध की शिकार हो जाती हैं। तीसरी कमजोर कड़ी है वे वित्तीय संस्थाएं, जिनसे जुड़े लोग वित्तीय लेनदेन करते वक्त अपराध का शिकार हो जाते हैं। अगर ये तीनों कमजोर कड़ियां दुरुस्त हो जाए तो एक हद तक साइबर अपराध नियंत्रित हो सकते हैं।
इस सेमिनार में लखनऊ से आए साइबर क्राइम के एक्सपर्ट सचिन गुप्ता ने न सिर्फ पुलिस वालों को बल्कि पचास से अधिक बैंक व वित्तीय संस्थाओं से जुड़े अफसरों को प्रशिक्षित किया। वे बुधवार को भी पुलिस लाइन में साइबर क्राइम रोकने के बारे में विस्तृत जानकारी देंगे। सेमिनार में बतौर मुख्य अतिथि डीआइजी मोहित अग्रवाल ने कहा कि बदलते दौर के साथ टेक्नोलॉजी अपडेट हुई, मगर लोगों में जागरूकता की अभी कमी है। कहा, शातिर पासवर्ड लेकर एकाउंट से पैसे उड़ा देते हैं। एक्सपर्ट बताएंगे कि साइबर क्राइम पर कैसे अंकुश लगाया जा सकता है। सेमिनार में एसपी अपराध श्रीकृष्ण ने चुनिंदा बैंक अफसरों थानेदार,सीओ, साइबर ब्रांच की टीम, सर्विलांस टीम को भी साइबर अपराध से निपटने के लिए जरूरी टिप्स दिए।
एसपी सिटी पंकज पांडेय ने भी साइबर क्राइम के क्षेत्र में आने वाली चुनौतियों से निपटने के जरूरी उपाय बताएं।
सेमिनार के बाद एसपी यातायात श्रीकृष्ण व एसपी सिटी पंकज पांडेय ने श्री वाष्ण्रेय महाविद्यालय में जाकर साइबर क्राइम को लेकर वहां की छात्रओं से संवाद स्थापित किया। उन्हें जरूरी टिप्स दिए और उनकी भ्रांतियों को भी दूर किया। अफसरांे ने छात्रओं को बताया कि वे किस प्रकार इंटरनेट व फेस बुक का प्रयोग करें, जिससे उनका दुरुपयोग न हो पाए। पुलिस लाइंस में साइबर क्राइम पर सेमिनार को संबोधित करते लखनऊ से आए विशेषज्ञ सचिन गुप्ता।
बाईटः-पंकज पाण्डेय (एसपी सटी)
बाईटः- दीपिका शर्मा (छात्रा)
बाईटः- महिता अग्रवाल
YouTube Preview Image

169,399 total views, 33 views today

अपनी राय दें

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

592

इगलास में कार ने बाईक में मारी टक्कर एक की मौत

एंकरः-अलीगढ़। इगलास के कोतवाली क्षेत्र गांव सहारा कला निवासी रामबाबू पुत्र हरी सिंह व अयज ...

591

खैर में पूर्व प्रधान की गोली मारकर हत्या

एंकरः-अलीगढ़। खैर तहसील दफ्तर गेट के सामने सुबह महगौरा के पूर्व प्रधान की बाइक सवार ...

590

शहीद का हुआ अंतिम संस्कार

एंकरः-अलीगढ़। जम्मु कश्मीर के सांबा में शहीद हुआ अलीगढ़ के इगलास क्षेत्र के गांव मुहरैनी ...