Home » ए.एम.यू » ए.एम.यू. कोर्ट की वार्षिक मीटिंग आज एनआरएससी क्लब ‘ए में सम्पन्न हुर्इ
40

ए.एम.यू. कोर्ट की वार्षिक मीटिंग आज एनआरएससी क्लब ‘ए में सम्पन्न हुर्इ

अलीगढ़ मुसिलम यूनीवर्सिटी कोर्ट की वार्षिक मीटिंग आज एनआरएससी क्लब ‘ए में सम्पन्न हुर्इ जिसकी अध्यक्षता कुलपति लेफ्टीनैन्ट जनरल जमीर उददीन शाह ने की।
यूनीवर्सिटी कोर्ट की इस मीटिंग में 42 कोर्ट के सदस्यों का भी चुनाव सम्पन्न हुआ जिसमें साहित्य अकादमी के पूर्व अध्यक्ष प्रोफेसर गोपी चन्द नारंग, आल इनिडया मुसिलम पर्सनल ला बोर्ट के अध्यक्ष मौलाना राबे हसन नदबी, प्रख्यात हाकी खिलाड़ी पदमश्री जफर इकबाल, प्रख्यात धर्मगुरू मौलाना कल्बे सादिक, राष्ट्रीय प्रेस कौनिसल के अध्यक्ष जसिटस मार्कन्डे काटजू, प्रख्यात फिल्म अभिनेता फारूख शेख, प्रख्यात फिल्म निदेशक मुजफ्फर अली और प्रख्यात वैज्ञानिक डा0 शाहिद जमील चुनाव जीत गये हैं

यूनीवर्सिटी कोर्ट की सदस्यता के लिये वक्फ बोर्ड के प्रतिनिधि के लिये चार लोग निर्विरोध घोषित किये गये हैं। जिनमें दिल्ली वक्फ बोर्ड के चेयरमैन चौधरी मतीन अहमद, यू0पी सुन्नी सैन्टर बोर्ड आफ वक्फ के अध्यक्ष श्री जफर फारूकी, बिहार वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष श्री इरशाद उल्लाह और राजस्थान बोर्ड आफ मुसिलम वक्फ के श्री लियाकत अली खान चुन लिये गये हैं।

भारत में मुसिलम कालेज आफ ओरियन्टल लर्निंग श्रेणी से छ: प्रतिनिधि चुने गये हैं जिनमें मुफ्ती अताउर्रहमान कासिमी, मौलाना फजलुर रहीम मुजददी, मौलाना अब्दुल वहाब खिलजी, डा. फखरूददीन और मौलाना गुलाम मुहम्मद वस्तानवी और काजी जैनुस साजिदीन कोर्ट के सदस्य चुने गये हैं।

उर्दू भाषा और संस्Ñति के प्रतिनिधित्व के तौर पर प्रख्यात उर्दू लेखक प्रोफेसर गोपी चन्द नारंग और फिल्म उमराव जान के निदेशक मुजफ्फर अली चुनाव जीत गये हैं।

मुसिलम शिक्षा व सांस्Ñतिक संगठनों का प्रतिनिधित्व करने वाले श्री असद उददीन उवैसी, श्री ख्वाजा शाहिद, शहजाद जफर अली, प्रोफेसर एसएन पठान और जफर जावेद कोर्ट के सदस्य निर्वाचित हुए हैं।

YouTube Preview Image

मुसिलम कल्चर और लर्निंग श्रेणी से पन्द्रह सदस्य चुने गये हैं जिनमें मौलाना राबे हसन नदवी, श्री नसीम वारिस, श्री नदीम अहमद फारूकी, मौलाना कल्बे सादिक और राजा रजा अली खान विजयी घोषित किये गये हैं। इसके साथ उत्तर प्रदेश प्रान्त से बाहर के दस व्यकितयों में सर्व श्री जफर इकबाल, डा. जाकिर नायक, प्रोफेसर एएम पठान, फारूक शेख, आसिफ जाह, अनवर उददीन खान, जाने आलम (आर्इएएस), मोहम्मद वजीर अन्सारी, सांसद रशीद मूसद और प्रख्यात वैज्ञानिक डा. शाहिद जीमल चुने गये हैं।

लर्नेड प्रोफेशन्स इन्डस्ट्री एन्ड कामर्स श्रेणी से दस सदस्यों के चुनाव में प्रोफेसर रजा उल्लाह खान, श्री रिज्वान अहमद (आर्इपीएस) प्रोफेसर कैसर अली नक्वी, पूर्व मंत्री श्री कौकब हमीद, शहर विधायक श्री जफर आलम, प्रोफेसर हुमांयू मुराद, डा. एस फारूक, दिल्ली अल्प संख्यक आयोग के अध्यक्ष श्री सफदर एच खान, न्याय मूर्ति मार्कन्डे काटजू और पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री सलीम इकबाल शेरवानी चुने गये हैं।

मीटिंग में निर्णय लिया गया कि चांसलर, प्रोचांसलर और आनरेरी ट्रेजरार का चुनाव बाद में होगा ताकि यह सभी निर्वाचित सदस्य भी अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकें।

यूनीवर्सिटी कोर्ट की इस मीटिंग में सांसद श्री असरारूल हक कासिमी व श्री मौहम्मद अदीब, पूर्व कुलपति श्री महमूद उर रहमान व श्री नसीम अहमद, लखनऊ सिथत ख्वाजा मुर्इन उददीन चिश्ती अरबी फारसी यूनीवर्सिटी के कुलपति डा. मोहम्मद अनीस अन्सारी, बिजीटर द्वारा नामित सदस्य प्रोफेसर वलेरिन रोडरिग्ज, हैदराबाद के अबुल अलीम खान, लखनऊ के श्री जफर याब जीलानी, प्रोफेसर मुहम्मद सलीम किदवर्इ के अलावा सहकुलपति बि्रगेडियर एस अहमद अली, रजिस्ट्रार ग्रुप कैप्टन शाहरूख शमशाद, प्रोक्टर, डीएसडब्लू, सभी संकायों के डीन कालेजों के प्राचार्य व कोर्ट के निर्वाचित सदस्य भी मौजूद रहे।

अलीगढ़ मुसिलम विश्वविधालय के विधि संकाय के डीन एवं मुख्य चुनाव अधिकारी प्रोफेसर सलीम अख्तर ने चुनाव परिणामों की घोषणा की।

बार्इट :- जमीरूददीन शाह (वी.सी.)
बार्इट :- कैप्टन शाहरूख शमशाद (रजिस्ट्रार)
बार्इट :- मौ. अदीब (राज्यसभा मैम्बर)

747 total views, 1 views today

अपनी राय दें

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

AMU: मशकूर बने छात्र संघ के अध्यक्ष तो सज्जाद ने जीता उपाध्यक्ष पद

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) छात्र संघ चुनाव के अध्यक्ष पद पर बिहार के मशकूर अहमद उस्मानी ने जीत दर्ज की है. वहीँ उपाध्यक्ष पद पर पीएचडी के छात्र सज्जाद सुभान राधर विजयी रहे. इसके अलावा सचिव पद पर एमएईबी के छात्र मोहम्मद फ़हद ने बाजी मारी. प्रोफेसर मुजीबुल्लाह जुबैरी, मुख्य चुनाव अधिकारी के अनुसार, मशकूर अहमद उस्मानी ने निकटतम प्रतिद्वंद्वी व बरौली से भाजपा विधायक ठा. दलवीर सिंह के पौत्र ठा. अजय सिंह को 6719 मतों से हराया है. मशकूर को 9071 वोट मिले है. अजय को 2353 वोट मिले हैं. तीसरे स्थान पर रहे अबू बकर को 2192 वोट मिले. इसी क्रम में वीमेंस कॉलेज में बीए द्वितीय वर्ष की नबा नसीम अध्यक्ष चुनी गईं और बीकॉम फाइनल ईयर की निदा अकरम उपाध्यक्ष बनी हैं. इसके अलावा बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा फबेदा अहमद ने सचिव पद पर जीत दर्ज की. नाबा नसीम को 916 वोट मिले. इन्होंने बीएससी द्वितीय की छात्रा नेहा किरमानी को 72 वोटों से हराया है. नेहा को 847 वोट मिल सके. तीसरे स्थान पर बीएस तृतीय की छात्रा उमामा हसीम रहीं, जिन्हें 97 वोट मिल सके. The post AMU: मशकूर बने छात्र संघ के अध्यक्ष तो सज्जाद न..

AMU में बड़े ही ख़ुलूस के साथ जश्ने ईद मिलादुन्नबी मनाई गई

दुनिया भर के मुसलमान इस्लाम धर्म के पैगंबर हजरत मुहम्मद (सल्ल.) का जन्मदिवस बड़ी ख़ुशी के साथ मना रहे है. ऐसे में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी नबी ए करीम (सल्ल.) के आमद का जश्न बड़े ही खुलूस के साथ मनाया गया. इस्लामिक साल हिजरी के अनुसार हजरत मुहम्मद (सल्ल.) साहब का जन्मदिवस रबी-उल-अव्वल की 12 तारीख को मनाया जाता है. हजरत मुहम्मद (सल्ल.) साहब के जन्म दिवस को जश्ने ईद मिलादुन्नबी, मिलाद आदि नामों से जाना जाता है.

‘पद्मावती’ विवाद में भाजपा नेता का इस्तीफ़ा, मनोहरलाल खट्टर को सुनाई खरी खोटी

चंडीगढ़ । फ़िल्म ‘पद्मावती’ का विरोध कर रहे भाजपा नेता सूरजपाल अम्मू ने अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया है। वो हरियाणा में भाजपा के चीफ़ मीडिया कोऑर्डिनेटर थे। अम्मू ने इस्तीफ़े के लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को ज़िम्मेदार ठहराया। यही नही उन्होंने खट्टर को ख़ूब खरी खोटी सुनाते हुए कहा की मैंने आज तक इतना घमंडी भाजपा मुख्यमंत्री नही देखा। बताते चले की फ़िल्म ‘पद्मावती’ के विरोध में सूरजपाल अम्मू ने संजय लीला भंसाली और दीपिका पादुकोण का सर काटने वाले को दस करोड़ रुपए देने का एलान किया था। हालाँकि भाजपा ने इसके लिए अम्मू का नोटिस भी थमाया था। उनके इस्तीफ़े को इसी नोटिस के साथ जोड़कर देखा जा रहा है। बुधवार को उन्होंने मीडिया से रूबरू होते हुए अपने इस्तीफ़ा की घोषणा की। इस दौरान उन्होंने एनसी नेता और सांसद फ़ारूख अब्दुल्ला को भी ललकारा। अम्मू ने कहा,’ सुबह सपना आया था और कुछ लोग शहादत मांग रहे थे। मैंने भारी मन से इस्तीफ़ा दिया है। मैं हरियाणा के सीएम के व्यवहार से दुखी हूं। मैंने इतना घमंडी बीजेपी सीएम कभी नहीं देखा है, जिसे अपने पार्टी के कार्यकर्ताओं और समुदाय के प्रतिनिधियो..