Home » ए.एम.यू » बुलेट चलाती AMU की लड़कियां

बुलेट चलाती AMU की लड़कियां

अलीगढ़ – जब भी बात की जाती है मुस्लिम महिलाओं, तब मीडिया मुस्लिम महिलाओं को बेचारा, बुर्के में ज़बरदस्ती ठूंसी हुई, रोटी चूल्हा करती महिला की छवि लेकर चलती है. पिछले पखवाड़े तीन तलाक को लेकर जिस तरह देशव्यापी हंगामा हुआ उसे देखकर आम भारतीय अपने दुःख दर्द भूलता सा महसूस हुआ, हालाँकि यूपी विधान सभा चुनाव में मिली जीत को भाजपा ने मुस्लिम महिलाओं से मिली वोटो की जीत तक कहा लेकिन चूँकि मतदान गोपनीय होता है इसलिए यह सब चुनावी अटकले ही रह गयी.

अगर बात की जाए मुस्लिम घरेलु महिला की तो मीडिया जो छवि हमें दिखाता है वो महिला भी बेचारी घर में बुर्के से लदी-दबी कुचली नज़र आती है, बेचारी पर ज़ुल्म भी इतना है की सोती भी बुरका पहनकर ही है. भरोसा ना हो तो गूगल का यह स्क्रीनशॉट देखें. अब वो बात अलग है की दुनिया की प्रथम यूनिवर्सिटी एक मुस्लिम महिला फातिमा अल-फिहरी ने स्थापित की थी.

muslim house women

वहीँ अगर ऐसे में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में पढने वाली मुस्लिम लड़कियों की बात की जाए तो उनको लेकर भी कहानी कुछ ज्यादा अलग नही आती लेकिन जैसे जैसेह्लात बदल रहे है वैसे वैसे लोगो की सोच भी बदलती जा रही है, यूं तो मुस्लिम लड़कियां पहले से ही प्रत्येक क्षेत्र में आगे रही हैं चाहे वो मधुबाला हो या मुमताज़, नर्गिस हो या जीनत अमान. यहाँ तक हमारे पडोसी मुल्कों में भी प्रधानमत्री की कुर्सियों में महिलाओं का कब्जा रहा है वहीँ इसके उलट पश्चिमी संस्कृति का झंडा उठाने वाले अमेरिकियों को एक महिला राष्ट्रपति तक गवारा नही है.

अलीगढ की मुस्लिम महिलाओं को लेकर एक विडियो सामने आया है जिसमे लड़कों को पीछे छोड़ती लड़कियों एक अलग ही अंदाज़ में बुलेट चलाती नज़र आ रही हैं. यह विडियो पोस्ट करते है प्रसिद्ध पत्रकार मोहम्मद अनस लिखे हैं की यह वीडियो अलीगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी की छात्राओं का है। वुमेन कॉलेज में चुनाव प्रचार का इनका तरीका देख आप बेहोश भी हो सकते हैं। मीडिया तथा फेसबुकिया बकैत लोग देख लें कि एएमयू की लड़कियां कैसी होती हैं। वे लोग तो ज़रूर देखें जो एएमयू का नाम सुनते ही नाक मुंह सिकोड़ने लगते हैं। हिजाब को औरतों की आज़ादी में रूकावट बताने वाली ‘सो कॉल्ड फेमिनिस्ट’ महिलाएं इसे देखें और घर पर साईकिल चलाने की प्रैक्टिस करें क्योंकि बुलेट तो एएमयू की ‘दबी-कुचली-सताई’ गई लड़कियां चला रही हैं। ज़िंदाबाद।

सम्बंधित ख़बरें

दुनिया में छा गई यह बेखौफ पाकिस्तानी लड़की

The post बुलेट चलाती AMU की लड़कियां appeared first on Aligarh Khabar Hindi News.

199 total views, 1 views today

अपनी राय दें

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

मन्नान वानी के आतंकी कनेक्शन पर बोले छात्र – AMU को बदनाम करने की साजिश

कथित तौर पर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के पीएचडी स्‍कॉलर मन्नान बशीर वानी के हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़ने की खबरों को एएमयू छात्रों ने विश्वविद्यालय को बदनाम करने की साजिश करार दिया. दरअसल, हाल ही में वानी की हाथ में एके-47 वाली तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी. जिसके बाद मीडिया में खबर आई कि वानी हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़ चुका है. वानीकुपवाड़ा जिले के लोलाब के ताकीपोरा गांव का रहने वाला है. और उसका भाई जूनियर इंजीनियर है. मनान वानी पिछले पांच साल से एएमयू में पढ़ रहा है. वह एम फिल कर रहा चूका था. वह अब जिऑलजी में पीएचडी कर रहा है. मन्नान के साथ पढ़ने वाले कुछ छात्रों ने उसके आतंकी संगठन से जुड़ने पर आश्चर्य जताते हुए कहा कि मन्नान ऐसा नहीं कर सकता. वह बहुत ही होशियार छात्र था. यह उसे फंसाने की साजिश हो सकती है. साथी छात्रों में से एक जुनैद ने बताया कि कैंटीन में कभी-कभार मुलाकात हो जाया करती थी. हालांकि छात्रों का ये भी कहना है कि वायरल फोटो मॉर्फ्ड भी हो सकती है. मन्नान को हाल ही में उसे भोपाल में बेस्ट पेपर प्रेजेन्टेशन के लिए अवार्ड भी मिला था. साथी छात्रों का कहना है कि आरो..

AMU: मशकूर बने छात्र संघ के अध्यक्ष तो सज्जाद ने जीता उपाध्यक्ष पद

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) छात्र संघ चुनाव के अध्यक्ष पद पर बिहार के मशकूर अहमद उस्मानी ने जीत दर्ज की है. वहीँ उपाध्यक्ष पद पर पीएचडी के छात्र सज्जाद सुभान राधर विजयी रहे. इसके अलावा सचिव पद पर एमएईबी के छात्र मोहम्मद फ़हद ने बाजी मारी. प्रोफेसर मुजीबुल्लाह जुबैरी, मुख्य चुनाव अधिकारी के अनुसार, मशकूर अहमद उस्मानी ने निकटतम प्रतिद्वंद्वी व बरौली से भाजपा विधायक ठा. दलवीर सिंह के पौत्र ठा. अजय सिंह को 6719 मतों से हराया है. मशकूर को 9071 वोट मिले है. अजय को 2353 वोट मिले हैं. तीसरे स्थान पर रहे अबू बकर को 2192 वोट मिले. इसी क्रम में वीमेंस कॉलेज में बीए द्वितीय वर्ष की नबा नसीम अध्यक्ष चुनी गईं और बीकॉम फाइनल ईयर की निदा अकरम उपाध्यक्ष बनी हैं. इसके अलावा बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा फबेदा अहमद ने सचिव पद पर जीत दर्ज की. नाबा नसीम को 916 वोट मिले. इन्होंने बीएससी द्वितीय की छात्रा नेहा किरमानी को 72 वोटों से हराया है. नेहा को 847 वोट मिल सके. तीसरे स्थान पर बीएस तृतीय की छात्रा उमामा हसीम रहीं, जिन्हें 97 वोट मिल सके. The post AMU: मशकूर बने छात्र संघ के अध्यक्ष तो सज्जाद न..

AMU में बड़े ही ख़ुलूस के साथ जश्ने ईद मिलादुन्नबी मनाई गई

दुनिया भर के मुसलमान इस्लाम धर्म के पैगंबर हजरत मुहम्मद (सल्ल.) का जन्मदिवस बड़ी ख़ुशी के साथ मना रहे है. ऐसे में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी नबी ए करीम (सल्ल.) के आमद का जश्न बड़े ही खुलूस के साथ मनाया गया. इस्लामिक साल हिजरी के अनुसार हजरत मुहम्मद (सल्ल.) साहब का जन्मदिवस रबी-उल-अव्वल की 12 तारीख को मनाया जाता है. हजरत मुहम्मद (सल्ल.) साहब के जन्म दिवस को जश्ने ईद मिलादुन्नबी, मिलाद आदि नामों से जाना जाता है.